जवाहरलाल नेहरू पर निबंध (essay about jawaharlal nehru in hindi)

आज मैं जवाहरलाल नेहरूपर एक निबंध शेयर कर रहा हूं। यह निबंध उन छात्रों की मदद कर सकता है जो जवाहरलाल नेहरू पर निबंध तलाश कर रहे हैं। ये निबंध बहुत ही सरल और याद रखने में आसान हैं। जवाहरलाल नेहरू पर निबंध (essay about jawaharlal nehru in hindi)

चलो शुरू करते हे 

जवाहरलाल नेहरू पर निबंध (essay about jawaharlal nehru in hindi)

जवाहरलाल नेहरू पर निबंध (essay about jawaharlal nehru in hindi)उनके पिता, मोतीलाल नेहरू एक प्रसिद्ध बैरिस्टर थे। उन्होंने अपनी प्राथमिक शिक्षा घर पर ही अंग्रेजी के शिक्षकों से प्राप्त की। उन्हें हाई स्कूल की पढ़ाई के लिए इंग्लैंड भेजा गया था। उन्होंने कानून की शिक्षा ग्रहण की। कानून की पढ़ाई पूरी करने के बाद वे भारत लौट आए। उन्हें अपने देश की स्वतंत्रता के लिए एक ज्वलंत जुनून था।

वे महात्मा गांधी से बहुत प्रभावित थे। उनकी सबसे बड़ी इच्छा भारत को आजाद कराने की थी। महात्मा गांधी के मार्गदर्शन में, जवाहरलाल नेहरू ने स्वतंत्रता आंदोलन में सक्रिय भाग लिया। उन्होंने सत्य और अहिंसा के मार्ग का भी अनुसरण किया। उन्हें कई बार जेल भेजा गया। 1929 में उन्हें भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का अध्यक्ष चुना गया। वहीं स्वतंत्रता की शपथ ली गई। उन्होंने संविधान सभा में कहा, “हम इतिहास के पुरुष और महिला हैं या नहीं, भारत भाग्य का देश है।”

अगस्त 1947 में जब भारत को स्वतंत्रता मिली, तो वह देश के प्रधान मंत्री बने। उनके चतुर नेतृत्व और वैश्विक दृष्टि ने देश के लिए प्रगति, समृद्धि और सम्मान लाया। उन्होंने लोकतंत्र की नींव रखी। वह शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व के सिद्धांतों में विश्वास करते थे। 1961 में भारत और चीन के बीच पंचशील समझौता हुआ। वे निशस्त्रीकरण के बड़े समर्थक थे। उनके नेतृत्व में भारत को दुनिया से उचित सम्मान मिला। उन्होंने शांति और भाईचारे की एक अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था बनाने के लिए कड़ी मेहनत की। उन्होंने बुद्ध, क्राइस्ट और नानक द्वारा परिभाषित मार्ग का अनुसरण किया। लंबे समय तक राष्ट्र और मानव जाति की सेवा करने के बाद, 27 मई 1964 को उनका निधन हो गया। उन्होंने योजना और विकास की एक समृद्ध विरासत को पीछे छोड़ दिया। उन्होंने प्रगति और सामाजिक न्याय का चक्र शुरू किया। उन्होंने शैक्षिक, तकनीकी और चिकित्सा संस्थानों का एक नेटवर्क बनाया। उन्होंने बड़े औद्योगिक, कृषि, सिंचाई और बिजली परियोजनाओं का निर्माण किया। उनका योगदान हर क्षेत्र में उल्लेखनीय है। वह उन कुछ लोगों में से एक थे जो देश और दुनिया पर प्रभाव डाल सकते थे। उनके जन्मदिन, चौदह नवंबर को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह हमें उनके महान चरित्र, आदर्शों और कार्यों की याद दिलाता है। विंस्टन चर्चिल के शब्दों में, “उन्होंने भय सहित सभी चीजों पर विजय प्राप्त की थी। “जवाहरलाल नेहरू के पास एक गहन दृष्टि थी। वे एक महान वक्ता और ख्याति प्राप्त लेखक थे। वह देश की एकता और मानव जाति की स्वतंत्रता में विश्वास करते थे।

 

जवाहरलाल नेहरू पर निबंध (essay about jawaharlal nehru in hindi)

मुझे उम्मीद है कि आप लोगों को जवाहरलाल नेहरू पर निबंध पसंद आया होगा तो कृपया शेयर और कमेंट करें

इस पेज पर आने के लिए धन्यवाद

और पोस्ट देखें…….

Leave a Reply

Your email address will not be published.